आशिकों का किस्सा

आशिकों का किस्सा

आशिकों का किस्सा

आशिकों का किस्सा

इश्क के इस दाग का एक बेवफा सें रिश्ता है
इस दुनियां में सदियों सें आशिक का ये किस्सा है
दर्दे दिल की आग को कोई सागर क्या बुझाएगा
दिल जला तो मौत के पहलू मैं जाकर ही बुझता है ||

 

हर सितम एक आइना है तुमको देखूं बार बार
खूने जिगर ही तेरी वफा पाने को ही तरसता है
कागज़ के फूलों की खुशबू भर जाती है आंखों में
तेरे इन पुराने खतों में तेरा सायां दिखता है ||

मां का दर्द

तुम किस अंधेरे में हो ए नूर खुदा के
सब ने तुझे पुकारा है खामोश सदा सें
दामन की उलझनों में डूबे हुए है हम,
लो दफ़न हो गए है खुद अपनी खदा सें ,
दामन की उलझनों में डूबे हुए है हम ,
लो दफन हो गए है खुद अपनी खता से ||

आशिकों का किस्सा

अब दिल के लिए कोई पत्थर कोई पत्थर भी तो आए ,
ऐ बेरहम तन्हाई मुझे इतनी दुआ दे ,
एक दर्द का वजूद है आगोश में मेरे
वो दूर रह रहा है अपनी दिलरुबा से ||

 

ये करवाटो के सिलसिले कभी ख़तम हो न पाएँगे ,
तेरे बिन हम दिल जले कभी चैन नहीं पाएँगे ,
ऐ चांद  फासला बढ़ा ,इतना की तुम खो जाओ ,
तेरी हसीन चांदनी में उन्हें हम भूल नहीं पाएँगे ||

एक आशिक की कहानी

बरसात के मौसम में शराब तो पी ली हमने ,
क्या खबर थी भीगकर हम नशे में रह नहीं पाएँगे ,
आखिर किसी मुकाम पर मेरे मंजिल का निशान होगा ,
तेरी ऊँगली थामे बिना वहां तक चल नहीं पाएँगे ||

होठ पर शायरी

तू जो खोयी तो ये सारा जहाँ वीरान हुआ ,
अब वो जोगी हुआ जो कल तेरा दीवाना था ,
में तो टुकड़ो को जोड़ता हु की तुझे देखूं ,
तू ही तस्वीर थी और दिल टुटा आइना था ||

purpose शायरी

धुप में डूब के हसीं चांद निकल आया है ,
आग में जलके कोई आशिक निकल आया है ,
जो कफ़न ना दे मगर मौत की दुआए दे ,
देख तेरे दर पे ये कोन  दोस्त आया है ||

आशिकों का किस्सा  विडियो देखें  –


विडियो गेलरी पर जाएं

हमारे यूट्यूब चैनेल पर जाएं

हमारी एंड्राइड एप्लीकेशन को अपने मोबाइल में डाले ||

Use G Suits For your Website

इन्हें भी पढ़ें  –

होंठों को प्राकर्तिक रूप सें सुंदर बनाने के उपाय

दांतों को मोतियों की तरह चमकदार कैसे बनाएं

 

 

Related posts

Leave a Reply