आशिक तेरा

आशिक तेरा

आशिक तेरा

आशिक तेरा

मैंने अपना सबकुछ भुला दिया तेरे लिए

पर तुमने तो मुझे छोड़ दिया किसी और के लिए,

मैं तुझे खूब घुमाता था तेरी हर ख्वाइश के लिए जां तक लुटाता था

अब किसी काम में मेरा मन नहीं लगता है, हर तरफ तेरा ही अहसास लगता है

तूं भी मेरे  प्यार का खूब फायदा उठाती थी मेरे झूठे आंसू दिखाकर मुझे खूब रुलाती थी |

मैं ना समझ तेरे इस तमाशे को प्यार समझ बैठा था ,

मैं सिर्फ तेरा हूं ,बस यही कहता था

मां का दर्द

मुझे ये ना पता था किस्मत ये मौड़ लाएगी, जिसे मैं जां जान कहता हूं वो इस तरह सें मूह मोड़ जायेगी

आखिर क्यों तूने मुझे भूल जाने को कह दिया, वजह जो पूछी तो क्यों बहाना मजबूरियों का बना लिया ||

कहती है घर वाले मेरी शादी कहीं और कर रहे हैं , मुझे तुम सें दूर जाने को मजबूर कर रहे हैं

अब तो  मैं बिलकुल  टूटने सा लगा,रब पर सें मेरा भरोसा उठने सा लगा

अब तो मैं अकेला ही रह गया हूं ,तेरे लिए घर बार भी छोड़ गया हूं

शायद महोब्बत में सबका यही हाल होता है, जितनी गहरी हो महोब्बत आशिक उतना ही रोता है,

दिल में छिपा कर दर्दे दिल अभी भी जी रहा हूं ,मगर अंदर ही अंदर गम के आंसू पी रहा हूं ||

आशिक तेरा  —  सच सुनो तो कहूं

दीवानापन शायरी  —

सच सुनो तो कहूं,  हर दिन याद आये हो तुम ,

हर ख्यालों में, कभी बातों ही बातों में , याद आये हो तुम,

ख़ुशी में भी और दुःख के हर हाल में याद आये हो तुम,

तुम हर बार महोब्बत की निगाह में भी याद आये हो तुम,

क्या जानो तुम की जब जब मेरे सामने प्यार जमाने सें हारा है,

तब तब बस इन आंखों में आया बस चेहरा तुम्हारा है,

सोचता हूं की बस थोड़ी सी किस्मत हमारी होती और जरा सी हिम्मत बस तुम्हारी होती ,

तो ये खूबसूरत सी जिंदगी हमारी होती ||

होठ पर शायरी

कोई गम नहीं है वैसे तो मुझको पर मैं तुम्हारा होता और तूं हमारी होती ||

विडियो गेलरी पर जाएं

हमारे यूट्यूब चैनेल पर जाएं

हमारी एंड्राइड एप्लीकेशन को अपने मोबाइल में डाले ||

Related posts

Leave a Reply