इश्क की दास्तां

इश्क की दास्तां

इश्क की दास्तां

इश्क की दास्तां

मोहब्बत जिंदगी बदल देती है ,
मिल जाए तो भी ना मिले तो भी …||

कुछ नहीं है आज मेरे शब्दों के गुलदस्ते में ,
कभी कभी मेरी ख़ामोशीयां भी पढ़ लिया करो …||

टूटे हुए सपनो और छूटे हुए अपनों ने मार दिया ,
वरना ख़ुशी खुद हमसे मुस्कुराना सिखने आया करती थी ||

एक आशिक की कहानी

हम ना पा सके तुम्हे मुद्दतो से चाहने के बाद ,
किसी ने अपना बना लिया तुझे चंद रस्मे निभाने के बाद ||

हमें सुरत से क्या मतलब हम तो सीरत पे मरते है ,
उनसे कहना जब तुम्हारा हुसन ढल जाए तो भी लौट आना ||

ये दिल ही तो जानता है मेरी पाक मोहब्बत का आलम
की मुझे जिन्दा रहने के  लिए सांसो की नही तेरी जरूरत है ||

प्यार की शायरी

तरस गए है तेरे मुह से कुछ सुनने को हम ,
प्यार की बात ना सही कोई शिकायत ही करदे ||

अमीर तो हम भी बहुत थे पर दोलत सिर्फ दिल की थी ,
खर्च भी बहुत की ऐ दोस्त पर ज़माने में गिनती सिर्फ नोटों की थी ||

अपनी कमजोरीयों का जिक्र कभी मत करना ऐ दोस्त ,
क्योंकि लोग कटी पतंग को खूब लुटा करते है ||

इश्क की दास्तां  विडियो देखें


इश्क की दास्तां

अपने दिल की ज़माने को बता देते है ,
हर एक राज से परदे को उठा देते है ,
आप हमें चाहे न चाहे गिला नहीं इसका ,
जिसे चाह ले हम उसपे जान लुटा देते है ||

जख्म इतने बड़े है इजहार क्या करे ,
हम खुद निशाना बन गए वार क्या करे ,
मर गए हम लेकिन खुली रह गयी आँखे ,
अब इससे ज्यादा किसी का इन्तजार क्या करे ||

कोई वादा ना कर कोई इरादा ना कर ,
ख्वाइश में खुद को आधा ना कर ,
ये देगी उतना ही जितना खुदा ने लिख दिया है ,
इस तक़दीर से उम्मीद ज्यादा ना कर ||

दीवानापन शायरी  —

सफ़र कट जाएँगे ,बिछड़ के मर जाएँगे ,
तेरे बारे में लेकिन गजल कह जाएँगे ,
अँधेरी रात में तुम कभी ठोकर न खाओ ,
जहाँ पे तुम रहोगे ,वही जल जाएँगे ||

न जुड़ पाया है हमसे ये टुटा आशिया भी,
तेरे बिन ये हुनर हम कहा से पाएँगे ,
चले आए है लिखने इश्क की दास्तां हम ,
किताबो में ही हम -तुम संग रह जाएँगे ||

इश्क की दास्तां  विडियो देखें  –


 

विडियो गेलरी पर जाएं

हमारे यूट्यूब चैनेल पर जाएं

हमारी एंड्राइड एप्लीकेशन को अपने मोबाइल में डाले ||

Use G Suits For your Website

 

 

 

Related posts

Leave a Reply