होंठ पर शायरी

होंठ पर शायरी

होंठ पर शायरी

होंठ पर शायरी

तेरे प्यार की हमें जरूरत बहूत थी,
पर तुझे पाने की कीमत बहूत थी,
आखरी सांस तक तेरा इन्तजार किया  था हमने ,
पर तुझे  वादा करके भूल जाने की आदत बहूत थी ||

इन्हें भी पढ़े – कुमार विश्वास की बेहतरीन शायरी

जिनकी आंखे आंसू सें नम नहीं,
क्या समझते हो उन्हें कोई गम नहीं,
तुम तड़फ कर रो दिए तो क्या हुआ ,
गम छुपाकर हंसने वाले भी कम नहीं ||

होंठ पर शायरी *दर्द भरी शायरी*

नसीब सें फ़रियाद तो कर सकते हैं
वीरानों को आबाद तो कर सकते हैं
क्या हुआ अगर आप सें मिल नहीं सकते,
दिन रात आपको याद तो कर सकते हैं ||

 

तूं कहीं भी रहे सर पे तेरे इल्जाम तो है,
तेरे होंठो की लकीरों पे मेरा  नाम तो है,
मुझको अपना बना या ना बना ,
तूं मेरे नाम सें बदनाम तो है ||

होंठ पर शायरी *प्रेम कहानियां*

उसकी आंखों में वफा देखी थी,
महकती फूलों की अदा देखी थी,
ये ना सोचा था वो बेवफा होगा,
उसमें तो चाहत की इन्तहा देखी थी||

 

वो हमको पत्थर और खुद को फूल कहकर मुस्कुराया करते हैं
उन्हें क्या पता की पत्थर तो पत्थर ही रहते हैं फूल ही मुरझा जाया करते हैं ||

*कविताएं*

आज कुछ कमी है तेरे बगेर, ना रंग है ना रौशनी है तेरे बगेर,
वक्त अपनी रफ़्तार सें चल रहा है,बस धड़कन सी थमी है तेरे बगेर ||

*प्यार भरी शायरी*

सब दुखों पर कुछ कुछ लिखा रह गया,
नाम ऐसा कुछ तूं मिटा के गया,
याद मेरी सताएगी हर दिन तुझे,
बिना खता के तूं जो मुझे रुला के गया,

 

हम तो हर बात खुदा अपे छोड़ देते हैं,
टूटे ना दिल किसी का इसलिए दिल अपना तोड़ देते हैं,
हम भी तो इंसान है पत्थर नहीं, क्यों सब लोग तूफ़ान हमारी और मोड़ देते हैं ||

होंठ पर शायरी

ए दिल किसी की याद में रोना फिजूल हैं,
ये आंसू बहूत कीमती है इन्हें खोना फिजूल है,
रो तूं उनके लिए ,जो तुझ पे निसार है,
उनके लिए क्या रोना जिनके आशिक हजार है,

होंठ पर शायरी विडियो  देखें –

 

विडियो गेलरी पर जाएं

हमारे youtube चैनल पर जाएं

हमारी एंड्राइड एप्लीकेशन  को अपने मोबाइल में डाउनलोड करें

Related posts

Leave a Reply