Geet Teri Bewfai ka Haryanvi Shayari

Geet teri bewfai gaa



हरयाणवी दर्द भरी शायरी कविता स्टेटस

गीत तेरी बेवफाई का


माडा टाइम था मेरा जब तने चाह बैठ्या मै
आज फेर तेरी बेवफाई प गीत बना बैठ्या मै

तूं के गेरा पाछे लाग इबे नखरे दिखावन लाग गी
कर गुमान जीप आ जवानी तेरी चार दिनाम ढल जागी
तेरी भोली सुरत पर बेरा ना कुकर मरन लाग गया म
खुद न भूल तेरी फ़िक्र क्यों करन लाग गया म

सुथरी भोत स पर तुन दिल की कती साफ़ ना
करया प्यार तेर त करया म कोई पाप ना
पीठ पाछे तन्ने मेर खंजर इसा मारया
पूरी उम्र तने म कर सकू माफ़ ना

इबे तो आ जिंदगी मेरी कटगी अँधेरी राता म
गलिया म हांडया करुंगा ले बोतल हाथा म
सोच्या करूंगा म कुकर आगया था तेरी बाता म
अब रात दिन युहे ही पीवन लाग्या म
बस एक बोतल गेल्या ही जीवन लाग्या म
गीत तेरी बेवफाई का लोगा त सुनावण लागगया म

ShareOn Whatsapp



PropellerAds


Related posts

Leave a Reply